बाब-इ-फैज़ गेट

बाब-ए-फ़ैज गेट लोकप्रिय रूप से सलार गंज गेट के नाम में भी जाना जाता है| गेट पत्थर की नींव के साथ ईंटों से बना है। गेटवे के ऊपरी हिस्से में उर्दू में एक शिलालेख बाब-ए-फैज नवाब सादिक -1129 पढ़ता है, इस प्रकार प्रवेश द्वार को बाब-ए-फ़ैज गेट के रूप में जाना जाता है, जिसका अर्थ है ‘लाभ का दरवाजा’ यह 1737 ईस्वी में नवाब सादिक द्वारा बनाया गया था।